उत्तराखंड लोक कलाकारों का मानदेय दुगुना होगा

उतराखंड के लोक कलाकारों की हालत और उनको मिलने वाले मानदेय पर समय समय पर सुधारने की बात होती रही है  लेकिन न तो सरकार और न ही संस्त्तकृति विभाग द्वारा कोई उचित कदम उठाया गया l हाल ही उत्तराखंड  के संस्कृति और सूचना विभाग में रजिस्टर्ड लोक कलाकारों का मानदेय बढ़ने के आसार नज़र आ रहे हैं. उत्तराखंड संस्कृति विभाग ने मानदेय बढ़ाने के संस्तुति कर सरकार को प्रस्ताव भेजा है. जिसमे कलाकारों के मानदेय को दो गुना करने की कवायद की गयी है| संस्कृति सचिव दिलीप जावलकर ने इसकी पुष्टि की है|

किसी भी प्रदेश की लोककला और संकृति के साथ साथ बोली भाषा को देश विदेशों में प्रचलित करने का काम वहां के लोक कलाकरों के कंधे पर होता है.और जब इन कलाकरों की सुध किसी को न हो तो वो कलाकारी को छोड़ना ही मुनासिब समझते हैं. उत्तराखंड के कई लोक कलाकार संस्कृति विभाग से इतने परेशांन हैं कि उन्होंने लोककला को ही खुद से दूर किया हुवा है. जिसका मुख्य कारण है उनका जीवन यापन. एक लोक कलाकार को कई किलोमीटर सफ़र करने के बाद भी सिर्फ 400 रुपये का मेंहनताना मिलता है.और उस रकम के लिये भी उसे कई महीनों इंतज़ार कराया जाता है. जो कि इन संस्कृति के संवाहकों के लिये बहुत मुश्किल होता है. हाल ही में हिलीवुड न्यूज़ शो में उठी आवाज़ आज सरकार तक हडकंप मचा चुकी है. जिसका नतीजा हुवा कि सरकार ने कलाकारों का मानदेय बढ़ाने का फैसला लिया है |

You may also like ...

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uttarakhand Cinema